उपराष्ट्रपति ने खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने में निजी क्षेत्र को शामिल करने के लिए खेल मंत्रालय को कहा

 उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आज युवा मामलों एवं खेल राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार)  किरेन रिजिजू को आंध्र प्रदेश में नेल्लोर जिले के मोगल्लापलेम गांव में बहुउद्देशीय खेल परिसर के निर्माण सहित वहां चल रही विभिन्न खेल परियोजनाओं में तेजी लाने के लिए सलाह दी।


 उपराष्ट्रपति भवन में आयोजित एक बैठक में केंद्रीय मंत्री  किरेन रिजिजू ने उपराष्ट्रपति को खेल परियोजना की प्रगति के बारे में जानकारी दी और कहा कि राज्य खेल प्राधिकरणों से उपयोग प्रमाण पत्र नहीं मिलने की वजह से कुछ परियोजनाओं में देरी होगी। उपराष्ट्रपति ने मंत्री और मंत्रालय के सचिव को आंध्र प्रदेश सरकार के साथ संपर्क बनाए रखने और तत्काल आधार पर परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी करने की सलाह दी। जिन अन्‍य परियोजनाओं पर चर्चा हुई उसमें विशाखापत्तनम के पास कोम्‍माडी में मिनी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, काकीनडा में एस्ट्रो टर्फ हॉकी मैदान और विजियानगरम जिले में बहुउद्देशीय इंडोर स्टेडियम शामिल हैं।बैठक के दौरान उपराष्ट्रपति ने आंध्र प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति एवं युवा उन्नयन मंत्री मुत्तमसेट्टी श्रीनिवास राव से टेलीफोन पर बात की और विभिन्न खेल परियोजनाओं की प्रगति के बारे में जानकारी ली। उपराष्ट्रपति ने रिजिजू को देश में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने में बड़े पैमाने पर निजी क्षेत्र को शामिल करने के लिए कहा है। उन्‍होंने इच्‍छा जताई कि विभिन्न केंद्रीय मंत्रालय खेल मंत्रालय के साथ सहयोग करें और विभिन्न खेल कार्यक्रमों को प्रायोजित करें।


 जीवन में खेल और फिटनेस को महत्व देते हुए नायडू ने सभी विश्वविद्यालयों और शिक्षण संस्थानों से खेल को उच्च प्राथमिकता देने का आग्रह किया।      उन्‍होंने इच्‍छा जताई कि खेल से संबंधित सभी पक्ष आने वाले वर्षों में दुनियाभर में आयोजित होने वाले विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में अधिक से अधिक गौरव प्राप्त करने हेतु भारत को सक्षम बनाने के लिए खेलों के विकास पर जोर दें। उपराष्ट्रपति ने खेलो इंडिया पहल के माध्यम से खेलों को बढ़ावा देने और देश में खेल संस्कृति का विकास करने के लिए सरकार की सराहना की।