नौसेना की दिव्यांग बच्ची को खुले पानी में तैराकी में विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए सम्मानित किया

आईएनएस शिकरा में तैनात आर्म्स द्वितीय में मास्टर चीफ मदन राय की ग्यारह वर्षीय बेटी सुश्री जिया राय सबसे तेज तैराकी कर विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली दिव्यांग छात्रा बन गई है। सुश्री जिया राय ने 15 फरवरी, 2020 को खुले पानी में 14 किलोमीटर तैराकी कर विश्व रिकार्ड बनाया। नेवी चिल्ड्रन स्कूल (एनसीएस), मुम्बई की छठी कक्षा की छात्रा सुश्री जिया ने मुम्बई एलिफेंटा द्वीप से गेटवे ऑफ इंडिया तक खुले पानी में तैरते हुए 14 किलोमीटर की दूरी 3 घंटे 27 मिनट और 30 सेकंड में पूरी की। एकल तैराकी का आयोजन भारतीय तैराकी परिसंघ के अधिकृत निकाय महाराष्ट्र तैराकी संघ की देखरेख में किया गया था


सुश्री जिया की यह असाधारण उपलब्धि इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स, एशिया बुक और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज करने के लिए योग्य माना गया है। सुश्री जिया दुनिया की सबसे कम उम्र की पहली दिव्यांग लड़की है, जिसने 03 घंटे 27 मिनट और 30 सेकंड में खुले पानी में 14 किलोमीटर की तैराकी पूरी की।



सुश्री जिया में लगभग दो साल की उम्र में ही ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर और डिले इन स्पीच का पता चल गया था। डॉक्टर की सलाह पर जल चिकित्सा के रूप में उसने तैराकी शुरू की जो बाद में उसका जुनून बन गया। सुश्री जिया के माता-पिता ने इस जुनून का पोषण किया और विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए उसकी तैयारी में मदद की।


सुश्री जिया को 23 फरवरी, 2020 को के. आर. कामा हॉल, मुंबई में आयोजित पुरस्कार समारोह में भारतीय तैराकी परिसंघ के एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट श्री अभय दाधे ने प्रमाण पत्र और ट्रॉफी के साथ सम्मानित किया।