जिस गेट से स्टेडियम में दाखिल होने वाले थे ट्रंप वो अचानक गिरा

अहमदाबाद में होने वाले नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम से पहले मोटेरा स्टेडियम के बाहर बना एक गेट क्षतिग्रस्त हो गया है। बताया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी और डॉनल्ड ट्रंप को मोटेरा स्टेडियम के इसी गेट से स्टेडियम में दाखिल होना था। इससे पहले ही शनिवार को यह गेट अचानक गिर गया। हालांकि जिस वक्त यह घटना हुई उस वक्त गेट के पास कोई मौजूद नहीं था। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति के दौरे से पहले तैयारियों में जुटे अधिकारियों ने अब इस मामले की जांच शुरू की है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दो दिन के भारत दौरे पर गुजरात के अहमदाबाद आने वाले हैं। जिसके लिए कई तरह के इंतजाम किए गए हैं। इसी बीच स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ट्रंप के स्वागत के लिए बनाया गया अस्थाई दरवाजा गिर गया है। बताया जा रहा है कि वह हवा के झोंके भी बर्दाश्त नहीं कर पाया और नीचे गिर गया। घटना ने तमाम इंतजामों की पोल खोल दी है। गेट नंबर तीन पर बने इसी द्वार से प्रधानमंत्री नोदी और ट्रंप को स्टेडियम के अंदर प्रवेश करने वाले थे।
 जिस समय यह घटना घटी उस समय वहां पर कोई मौजूद नहीं था। अमेरिकी राष्ट्रपति के दौरे से पहले की तैयारियों में जुटे अधिकारियों ने इसकी जांच शुरू कर दी है। अहमदाबाद के जिस स्टेडियम में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित करने वाले हैं। इसमें प्रवेश के लिए कई गेट बनाए गए हैं। गेट नंबर तीन से ट्रंप और मोदी के काफिले को स्टेडियम के अंदर प्रवेश करना था। जिसके लिए अधिकारियों ने अस्थाई गेट बनाया था जोकि तेज हवाओं के कारण गिर गया।
अस्थाई दरवाजा गिरने की जानकारी मिलने के तुरंत बाद तत्काल व्यवस्थाओं में जुटे अधिकारी और कर्मचारियों को वहां भेजा गया। हालांकि घटना में कोई चोटिल नहीं हुआ है। राष्ट्रपति ट्रंप के यहां पहुंचने से एक दिन पहले गेट गिरने की घटना ने प्रशासन की तैयारियों पर सवाल उठा दिए हैं। 
डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले जम्मू में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। हाल ही में आतंकियों का एक ऑडियो जारी हुआ था जिसमें वे ट्रंप के दौरे के दौरान बड़ा हमला करने की बात कर रहे थे।इस बीच खुफिया एजेंसियों को घुसपैठ की कोशिशों के इनपुट मिल रहे हैं। पुंछ में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में पाकिस्तान घुसपैठ कराने के लिए लगातार गोलाबारी की जा रही है। इसके मद्देनजर सुरक्षा और खुफिया एजेंसियां ज्यादा सतर्क हो गई हैं। सूत्रों का कहना है कि सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ रोकने के लिए अधिक सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है।