इस्पात के उपयोग को बढ़ावा देने के बारे में एक कार्यशाला का आयोजन करेगा

इस्पात मंत्रालय, भारतीय उद्योग परिसंघ (साआईआई) के सहयोग से 17 फरवरी, 2020 को नई दिल्ली में एक कार्यशाला का आयोजन कर रहा है। इस कार्यशाला में रेलवे और रक्षा क्षेत्रों में इस्पात को बढ़ावा देने के बारे में ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इस कार्यशाला का उद्देश्य इस्पात और इस्पात उत्पादों की आपूर्ति में अंतराल और अवसरों की पहचान करना है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान मुख्य अतिथि और इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते इस अवसर पर सम्मानित अतिथि होंगे। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव, रक्षा मंत्रालय में सचिव अजय कुमार,  इस्पात सचिव  बिनॉय कुमार भी इस अवसर उपस्थित रहेंगे। इस कार्यशाला में निम्नलिखित बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा-



  • रेलवे, सेना, नौसेना और वायु सेना में इस्पात और इस्पात उत्पादों की मौजूदा और भविष्य की आवश्यकता

  • इस्पात की आवश्यकता के विशेष संदर्भ के साथ उपयोगकर्ता क्षेत्रों की दीर्घकालिक परिप्रेक्ष्य योजना

  • घरेलू स्तर पर स्टील की खरीदारी में आ रही चुनौतियां।

  • रेलवे और रक्षा द्वारा वर्तमान में आयात की जा रही इस्पात की मात्रा और  आयात का कारण।

  • मौजूदा मांग को पूरा करने में भारतीय लोहा और इस्पात उद्योग की क्षमताएं,  भविष्य की विस्तार योजनाएं तथा नए उत्पाद विकसित करने के लिए विनिर्माण और अनुसंधान एवं विकास क्षमताएं।