गुलशन कुमार की हत्या होने की खुफिया खबर मुंबई पुलिस को पहले से थीं मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर का खुलासा


महाराष्ट्र के पूर्व राकेश मारिया ने अपनी किताब  में लिखा है कि मुंबई पुलिस को टी सीरीज म्यूजिक कंपनी के सर्वेसर्वा गुलशन कुमार को मारने की साजिश की विस्तृत खुफिया जानकारी थी कि किस गिरोह को काम सौंपा गया है और पुलिस ने उनकी रक्षा करने के लिए सब किया लेकिन यूपी पुलिस के आने से समीकरण बिगड़ गया।


राकेश मारिया को एक खबरी ने बताया था गुलशन कुमार का विकेट गिरने वाला है। इसपर राकेश मारिया ने पूछा विकेट लेने वाला कौन है। खबरी ने जवाब दिया अबू सलेम साहब। उसन अपने शूटरों के साथ सब प्लान नक्की किया है। गुलशन कुमार रोज सुबह घर से निकल के एक शिव मंदिर जाता है। वहीं पे काम खत्म करने वाले है। अगले दिन मारिया ने फिल्म निर्माता निर्देशक महेश भट्ट को फोन किया और उनसे पूछा कि क्या वह गुलशन कुमार को जानते हैं और क्या वह जानते हैं कि वह हर सुबह एक शिव मंदिर जाते है। मारिया ने भट्ट को कारण भी बताया कि वह क्यों पूछ रहे हैं। महेश भट्ट ने सूचना की पुष्टि करने के लिए थोड़ी देर बाद वापस फोन किया।इसके बाद राकेश मारिया ने लिखा है मारिया ने लिखा तब मैंने भट्ट को बताया कि मैं क्राइम ब्रांच को ब्रीफ करूंगा और वह गुलशन कुमार को घर से बाहर नहीं निकलने देंगे। क्राइम ब्रांच ने उनसे संपर्क किया और उनकी सुरक्षा के इंतजाम किए। मारिया उस समय डीजीपी अरविंद इनामदार के लिए एक स्टाफ अधिकारी के रूप में असिस्टेंट इंस्पेक्टर जनरल लॉ एंड ऑर्डर एंड क्राइम थे।


इसके बाद मारिया ने उस समय के असिस्टेंट इंस्पेक्टर जनरल (लॉ एंड ऑर्डर) और क्राइम के कर्मचारी अधिकारी अरविंद इनामदार को फोन किया और उन्हें खबरी द्वारा दी गई जानकारी का विवरण दिया।