गलतफहमी न पालें कयामत का दिन कभी नहीं आएगा-मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर सीएए एनपीआर और एनआरसी के नाम पर भ्रम उत्पन्न करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को सवाल किया कि आखिर देश की छवि खराब करके आप क्या पाना चाहते हैं। योगी ने विधानसभा में बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए विपक्ष पर तंज किया आज भी तो आप सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। बुद्धिमान व्यक्ति बार.बार ठोकर नहीं खाता। आप सीएए एनपीआर और एनआरसी के नाम पर भ्रम की स्थिति पैदा कर रहे हैं। आप समाज की अपूरणीय क्षति कर रहे हैं। आने वाली पीढ़ी इस कृत्य के लिये कभी माफ नहीं करेगी।



उन्होंने कहा आखिर संशोधित नागरिकता कानून को लेकर इतना बड़ा बवाल क्यों मैं पूछना चाहता हूं कि आखिर देश की छवि को खराब करके आप क्या पाना चाहते हैं आप प्रदेश के विकास को रोक रहे हैं। देश की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है। विपक्ष का रवैया बहुत गैर जिम्मेदाराना है। इसी बीच किसी विपक्षी सदस्य ने कुछ कहना चाहा तभी योगी बोले आप एक बात को नोट कर लें किसी गलतफहमी का शिकार होंगे कयामत का दिन कभी नहीं आएगा कानून को बंधक बनाकर अपने अनुसार चलाएंगे तो यह कभी नहीं हो पाएगा।मुख्यमंत्री ने दावा करते हुए कहा सीएए के मुद्दे पर हमने कभी नहीं कहा कि हम धरना प्रदर्शन नहीं करने देंगे। हमने कहा कि आप शांतिपूर्ण तरीके से ज्ञापन दे दीजिए लेकिन आगजनी करेंगे तो सम्पत्ति से वसूली भी करेंगे। क्योंकि ये मेरे घर की प्रॉपर्टी नहीं है। इस पर सपा के इकबाल महमूद ने खड़े होकर कहा कि आप सबके मुख्यमंत्री हैं। सिर्फ भाजपा के मुख्यमंत्री नहीं हैं। संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने इस पर आपत्ति करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री सदन में बोल रहे हैं। बीच में बोलना ठीक नहीं है। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के कहने पर महमूद बैठ गए।विधानसभा में सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन पर विपक्ष को जवाब देते हुए बोले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी में जगह.जगह हो रहे प्रदर्शनों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को प्रदर्शनकारियों को चेतावनी दी। योगी ने दो टूक कहा. आखिर देश की छवि आप लोग क्यों खराब करना चाहते हैं देश में आगजनी और तोड़फोड़ करके निर्दोष लोगों को निशाना बनाकर वे लोग क्या चाहते हैं ऐसे लोग एक बात साफ.साफ नोट कर लें कि वह गलतफहमी के शिकार न हों क्योंकि कयामत का दिन कभी नहीं आएगा। कोई गलतफहमी का शिकार होगा तो उसका समाधान हम अच्छे से करना जानते हैं।विधानसभा के बजट सत्र के दौरान राज्यपाल के अभिभाषण पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर विरोध प्रदर्शन अनावश्यक है। यह नागरिकता देने का कानून है। प्रधानमंत्री बार.बार कह चुके हैंए इससे किसी से नागरिकता नहीं जाने वाली है। यह कानून 1955 में कांग्रेस सरकार ने बनाया था इसमें सिर्फ नागरिकता देने के लिए 11 वर्ष के जगह पर 5 वर्ष का नियम किया गया है।