बिल्डर्स के साथ बैठक करते हुए स्टांप विभाग के अधिकारियों को ऐसे बिल्डर्स को चिन्हित कर रिपोर्ट तलब करने के दिए निर्देश।

 जिलाधिकारी बीएन सिंह ने कलेक्ट्रेट के सभागार में बिल्डर्स के साथ बैठक करते हुए स्टांप विभाग के अधिकारियों को ऐसे बिल्डर्स को चिन्हित कर रिपोर्ट तलब करने के दिए निर्देश।



रजिस्ट्री के माध्यम से राजस्व बढ़ाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी बीएन सिंह के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में बिल्डर्स के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करते हुए उन्हें स्पष्ट किया है कि जिन बिल्डर्स के द्वारा बिना रजिस्ट्री कराये वायर्स को फ्लैट पर कब्जा दिया गया है उनकी रजिस्ट्री तत्काल प्रभाव से कराने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए अन्यथा की स्थिति में जिन बिल्डर्स के द्वारा कानून का उल्लंघन किया जा रहा है और सरकार के राजस्व का नुकसान किया जा रहा है ऐसे बिल्डर्स को चिन्हित करते हुए जिला प्रशासन नियमों के तहत सख्त कार्यवाही प्रस्तावित करेगा। उन्होंने सभी बिल्डर्स को स्पष्ट करते हुए कहा कि ऐसे बिल्डर्स अभियान चलाकर कब्जा धारी वायर्स की रजिस्ट्री तत्काल प्रभाव से कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि विगत 1 वर्ष पूर्व भी इस संबंध में सभी संबंधित बिल्डर्स को स्पष्ट करते हुए इस कार्य को अभियान के रूप में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए थे परंतु कुछेक बिल्डर्स के द्वारा अभी तक यह कार्य पूर्ण नहीं किया गया है। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर एआईजी स्टांप एवं अन्य अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उनके द्वारा ऐसे बिल्डर का चयन किया जाए जिनके द्वारा जानबूझकर कब्जा देने के उपरांत वायर्स की रजिस्ट्री नहीं की जा रही है जिससे सरकार को राजस्व का सीधा नुकसान हो रहा है एवं सरकार के नियमों का उल्लंघन भी हो रहा है। ऐसे बिल्डर्स के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई प्रस्तावित की जाए। आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने बिल्डर्स से उनकी समस्याओं के संबंध में भी जाना। यहां पर यह तथ्य प्रकाश में आया कि जिन प्रकरणों में रजिस्ट्री के लिए 4 माह का समय निर्धारित होता है उसे 8 माह तक बढ़ाने के लिए अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के स्तर पर समय बढ़ाने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाती है इस संबंध में जिलाधिकारी ने समस्त बिल्डर्स का आह्वान किया कि वह ऐसे प्रकरणों में तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत करें 4 दिन के भीतर यह कार्यवाही जिला प्रशासन की ओर से सुनिश्चित की जाएगी। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व मुनींद्र नाथ उपाध्याय एआईजी स्टांप तथा सब रजिस्टारों के द्वारा भाग लिया गया।