बर्लिनेल 2020 में भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने येरुशलम अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के साथ भागीदारी पर की चर्चा

बर्लिनेल 2020 के दूसरे दिन भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने वैश्विक फिल्म उद्योग के ऐसे कई प्रतिनिधियों से मुलाकात की, जिन्होंने भारत के साथ काम करने में दिलचस्पी जाहिर की और 51वें आईएफएफआई अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म महोत्सव में भाग लेने की इच्छा प्रकट की है।


प्रतिनिधिमंडल ने इजराइल के संस्कृति और खेल मंत्री व इजराइली पैवेलियन के परिचालन प्रमुख (इजराइल फिल्म कोष) और कलात्मक निर्देशक श्री लिओर सैसोन से मुलाकात की। श्री सैसोन ने आईएफएफआई 2020 के साथ भविष्य में सहयोग की संभावनाएं तलाशने में दिलचस्पी जाहिर की है। दोनों पक्षों ने येरुशलम फिल्म महोत्सव, येरुशलम में भारत को लक्षित देश के रूप में प्रदर्शित करने और आईएफएफआई 2020 में उसकी भागीदारी के लिए मिलकर काम करने की संभावनाओं पर भी चर्चा हुई।प्रतिनिधिमंडल ने नेशनल फिल्म एंड वीडियो फाउंडेशन ऑफ साउथ अफ्रीका (एनएफवीएफ) की मुख्य कार्यकारी अधिकारी मखोसाजाना खैनाइल के साथ मुलाकात की। बैठक के दौरान सुश्री खैनाइल ने एनिमेशन, गेमिंग और वीआर/एआर क्षेत्र और आईएफएफआई पर भारत के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जाहिर की। उन्होंने डिजिटल और गेमिंग दोनों में कौशल के आदान-प्रदान पर भारत के साथ रणनीतियां विकसित करने भी जोर दिया। राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम (एनएफडीसी, भारत) की एनएफवीएफ के साथ सह निर्माण संधि है।भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने राइट स्टफ की सुश्री वेंडी बेंडरेड, एमडीएम ऑनलाइन (जर्मन फिल्म डेवलपमेंट बोर्ड एंड फिल्म फंड) के सीईओ श्री क्लास डैनियलसन, उज्बेकिस्तान नेशनल फिल्म कमीशन की चेयरमैन सुश्री मुखलीसा आजिजोवा, सूडांस फिल्म इंस्टीट्यूट के वरिष्ठ प्रबंधक (फीचर प्रोजेक्ट इंटरनेशनल) श्री मैथ्यू तकाता और लंचबॉक्स फिल्म के सह-निर्माता  मार्क बैशेट और स्पेन सहित कई देशों के प्रतिनिधिमंडलों के साथ संवाद किया।


सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने भारतीय उद्योग परिसंघ के सहयोग से बर्लिनेल में भारतीय पैवेलियन का आयोजन किया। बर्लिनेल 2020 में 40 से ज्यादा भारतीय फिल्म कंपनियां भाग ले रही हैं।