2019-20 के लिए खाद्यान्न, तिलहन और अन्य वाणिज्यिक फसलों के उत्पादन का दूसरा अग्रिम अनुमान

कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग ने आज 2019-20 के लिए खाद्यान्न, तिलहन और अन्य वाणिज्यिक फसलों के उत्पादन का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किया। मॉनसून (जून से सितंबर, 2019) के दौरान देश में संचयी वर्षा दीर्घकालिक औसत (एलपीए) की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक हुई। इसके मद्देनजर कृषि वर्ष 2019-20 के लिए अधिकतर फसलों के उत्पादन का अनुमान सामान्य उत्पादन की अपेक्षाकृत अधिक आंका गया है। समय-समय पर मिलने वाली सटीक सूचनाओं के आधार पर इन आंकलनों में सुधार किया जा सकता है।


दूसरे अग्रिम अनुमान के अनुसार 2019-20 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार है –


 



  • खाद्यान्न – 291.95 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

  • चावल – 117-47 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

  • गेहूं – 106.21 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

  • पोषक/मोटा अनाज – 45.24 मिलियन टन

  • ज्वार – 28.08 मिलियन टन

  • दालें – 23.02 मिलियन टन

  • तूर – 3.69 मिलियन टन

  • चना – 11.22 मिलियन टन

  • तिलहन – 34.19 मिलियन टन

  • सोयाबीन – 13.63 मिलियन टन

  • रेपसिड और सरसों – 9.11 मिलियन टन

  • मूंगफली – 8.24 मिलियन टन

  • कपास – 34.89 मिलियन गांठ (प्रत्येक 170 किलोग्राम)

  • जूट और मेस्टा – 9.81 मिलियन गांठ (प्रत्येक 180 किलोग्राम)

  • गन्ना – 353.85 मिलियन टन


वर्ष 2019-20 के लिए दूसरे अग्रिम अनुमानों के अनुसार देश में खाद्यान्‍न उत्‍पादन रिकॉर्ड 291.95 मिलियन टन होने की आशा है, जो 2018-19 के 285.51 मिलियन टन खाद्यान्‍न उत्‍पादन से 6.74 मिलियन टन अधिक है। लेकिन 2019-20 के दौरान उत्‍पादन पिछले पांच वर्षों (2013-14 से 2017-18) के औसत खाद्यान्‍न उत्‍पादन से 26.20 मिलियन टन  से अधिक है। वर्ष 2019-20 के दौरान कुल चावल उत्‍पादन 117.47 मिलियन टन होने का अनुमान है। यह पिछले पांच वर्षो के 107.80 मिलियन टन के औसत उत्‍पादन की तुलना में 9.67 मिलियन टन अधिक है।वर्ष 2019-20 के दौरान गेंहू का रिकॉर्ड 106.21 मिलियन टन उत्‍पादन होगा। यह 2018-19 के गेंहू उत्‍पादन की तुलना में 2.61 मिलियन टन अधिक है और 94.61 मिलियन टन के औसत गेंहू उत्‍पादन से 11.60 मिलियन टन अधिक है।


पौष्टिक मोटे अनाजों का उत्‍पादन 45.24 मिलियन टन होने का अनुमान है, जोकि 2018-19 के 43.06 मिलियन टन उत्‍पादन से 2.18 मिलियन टन अधिक है। यह औसत उत्‍पादन से भी 2.16 मिलियन टन ज्‍यादा है।वर्ष 2019-20 में दालों का कुल उत्‍पादन 23.02 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो पिछले पांच वर्षों के 20.26 मिलियन टन के औसत उत्‍पादन से 2.76 मिलियन टन अधिक है।देश में वर्ष 2019-20 के दौरान तिलहन का कुल उत्‍पादन 34.19 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो 2018-19 के 31.52 मिलियन टन उत्‍पादन से 2.67 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2019-20 के दौरान तिलहनों का उत्‍पादन औसत तिलहन उत्‍पादन से 4.54 मिलियन टन अधिक है।देश में वर्ष 2019-20 के दौरान कुल गन्‍ना उत्‍पादन 353.85 मिलियन टन होने की आशा है। 2019-20 के दौरान गन्‍ना उत्‍पादन 349.78 मिलियन टन के औसत गन्‍ना उत्‍पादन से 4.07 मिलियन टन अधिक है।कपास का उत्‍पादन 34.89 मिलियन गांठ (प्रत्‍येक 170 किलोग्राम की) होने का अनुमान है, जो 2018-19 के 28.04 मिलियन गांठ से 6.85 मिलियन गांठ अधिक है। जूट और मेस्‍ता का उत्‍पादन 9.81 मिलियन गांठ (प्रत्‍येक 180 किलोग्राम की) होने का अनुमान है।