श्री हनुमंत कथा में हनुमान जी का लंका जाने की कथा का किया वर्णन

ग्रेटर नोएडा: मीडिया प्रभारी मुकुल गोयल ने बताया कथा वाचक परम पूज्य संत श्री विजय कौशल महाराज द्वारा सुनाई जा रही हनुमंत कथा में आज हनुमान जी के लंका जाने की कथा का वर्णन किया।



उन्होंने विस्तृत रूप से बताया कि किस प्रकार लंका जाने के लिये उन्हें प्रेरित किया और माता जानकी की सूचना लाने और राम जी का संदेश पहुँचाने का कार्य सौंपा। लंका पार करते समय सुरसा की कथा का विस्तार से वर्णन किया जिसमें सुरसा जैसी विशाल राक्षसी को पार करने के लिये छोटा स्वरूप बनाना पड़ा। इसके साथ साथ महाराज जी ने कथा सुनने का महत्व भी बताया। उन्होंने बताया कि कथा सुनने से भगवान के गुणों का ज्ञान होता है जिससे उनसे मिलने की लालसा होती है। जिस प्रकार माँ बच्चो में उलझी रहती है उसी प्रकार हमें ईश्वर की भक्ति में उलझ जाना चाहिये। जिस प्रकार हम हर समय साँस लेते है, हमारा दिल धड़कता उसी प्रकार सदैव हमें ईश्वर का स्मरण करना चाहिये। प्रदेश मंत्री नवाब सिंह नागर ने माला पहनाकर महाराज जी का स्वागत किया। राजकुमार भाटी, बिजेंद्र सिंह आर्य, आर के सूद, अजब सिंह, जे एन त्रिपाठी, धनप्रकाश शर्मा, वीरेश आर्य, देवमुनि जी ने पुष्प भेंट कर महाराज जी का स्वागत किया।कथा में उमेश बंसल,पी पी मिश्रा,कुलदीप शर्मा, मनोज गर्ग, सौरभ बंसल ,मुकुल गोयल,सत्यप्रकाश अग्रवाल,कपिल गुप्ता,जी पी गोस्वामी, ललित शर्मा, गौरव उपाध्याय,जितेंद्र त्रिपाठी,संजीव सालवान,गिरीश गुप्ता,देवीशरण शर्मा,सुरेश पचौरी,वैभव बंसल ,अमरजीत सिंह,अरविंद तिवारी,सरोज तोमर,बीना भाटी,आदि लोग उपस्थित रहे।