पूर्वावलोकन – नौसेना हथियार प्रणाली - नवआर्म्स- 2019 पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी सह प्रदर्शनी

नौसेना हथियार प्रणाली “नवआर्म्स - 2019” पर चौथी अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी सह प्रदर्शनी 12-13 दिसंबर, 2019 को नई दिल्ली के रक्षा अध्ययन और विश्लेषण संस्थान में होगी। संगोष्ठी का विषय है – “मेक इन इंडिया – युद्ध श्रेणी : अवसर और आवश्यकताएं”।  दो दिन की संगोष्ठी में पांच सत्र होंगे जिनमें नौसेना हथियार प्रणाली के क्षेत्र में विचारों का आदान-प्रदान किया जाएगा और भारतीय/ अंतर्राष्ट्रीय रक्षा उद्योग की उभरती संभावनाओं की पहचान की जाएगी। नवआर्म्स नौसेना हथियार प्रणाली पर एक मात्र अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी और प्रदर्शनी है। यह संगोष्ठी सभी हितधारकों को अपने विचार रखने का साझा मंच प्रदान करती है।रक्षा राज्य मंत्री 12 दिसंबर, 2019 को उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे और प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे। पहले नवआर्म्स संगोष्ठी 2007, 2010 तथा 2013 में आयोजित की जा चुकी हैं। इन संगोष्ठिओं से उद्योग, रक्षा मंत्रालय, डीआरडीओ तथा अन्य हितधारकों में भागीदारी के लिए उत्साह बढ़ा है।


भारत का सर्वश्रेष्ठ समुद्री चरित्र और महत्वपूर्ण भौगोलिक रणनीतिक स्थिति ने राष्ट्र के रूप में भारत के विकास को परिभाषित किया है। आज भारतीय नौसेना भारत की समुद्री शक्ति की प्रधान अभिव्यक्ति  है और भारतीय नौसेना समुद्री क्षेत्र में भारत की सुरक्षा और राष्ट्रीय हितों का संरक्षण और प्रोत्साहन के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। बदलती भौगोलिक-आर्थिक तथा भौगोलिक-रणनीतिक परिस्थितियों में नौसेना की भूमिका और जिम्मेदारियां काफी बढ़ी हैं। इससे भारत की सुरक्षा और खतरे के लिए हथियार प्रणाली की व्यापक आवश्यकता दिखी है।