हनुमान जी से शनि देव क्यो भयभीत रहते है:विजय कौशल जी महाराज

ग्रेटर नोएडा(फेसवार्ता भारत भूषण शर्मा): विजय कौशल जी महाराज ने कथा की शुरुआत में धन्ना सेठ की भगवान के प्रति आस्था के बारे मैं बताया। हनुमान जी से शनि देव क्यो भयभीत रहते है इस प्रशंग का विस्तार पूर्वक  वर्णन किया। मन क्रम बचन ध्यान जो लावे,मंगल भबन अमंगल हारी , जो ये पढ़े हनुमान चालीसा,जो सत बार पाठ कर कोई ,मेरा लाल लगोटे बाला ओ नंदनी के लाला सिर पर मुकुट बाला,जय जय जय हनुमान गोसाई कृपा करू गुरु देव जो नाइ , जैसी अनेक चौपाइयों को सुनाया।



अध्यक्ष सत्यप्रकाश अग्रवाल ने बताया पहले दिन की कथा से प्रेरित होकर दूसरे दिन कथा सुनने के लिए हजारों की संख्या में दर्शक पहुँचे।सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस कर्मी भी मौजूद रहे।



आज कथा में पी पी मिश्रा,कुलदीप शर्मा, उमेश बंसल,काका गर्ग, मुकुल गोयल,सौरभ बंसल ,कपिल गुप्ता,भूषण जी, के के शर्मा, विनोद कसाना,राकेश अग्रवाल,पवन गोयल,जी पी गोस्वामी,गौरव उपाध्याय, मुकेश शर्मा,जितेंद्र त्रिपाठी, गिरीश गुप्ता,देवीशरण शर्मा,अमित गोयल,हरेंद्र भाटी,सुनील दीक्षित,सुरेश पचौरी,वैभव बंसल ,अमरजीत सिंह, मयंक पांडेय,अरविंद तिवारी,धनप्रकाश शर्मा,आनंद सिंह,आदि लोग उपस्थित रहे।