हनुमान जी लंका दहन करकर सीता माता से चूड़ामडी लेकर वापस रामादल में लौटते हैं

ग्रेटर नोएडा (फेस वार्ता भारत भूषण शर्मा): परम पूज्य संत विजय कौशल जी महाराज द्वारा अल्फा 2 एच ब्लॉक ग्रीन बेल्ट में चल रही हनुमंत कथा में हनुमान जी लंका दहन करकर सीता माता से चूड़ामडी लेकर वापस रामादल में लौटते हैं,हनुमान जी द्वारा किये गए इस असंभव कार्य को लेकर श्री विजय कोशल जी महाराज कहते है कि विपदा के समय मनुष्य को हनुमान जी का सहारा लेना चाहिए या श्रेष्ठ व बलवान व्यक्ति का ।नरसी जी की कथा का भी वर्णन किया । जिसे सुनकर सभी श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए।आज हनुमान जी के जन्म की कथा का भी विस्तृत रूप से वर्णन किया।हनुमान जी के संगीतमयी जन्मोत्सव  पर दर्शकों ने जमकर नृत्य किया,



गौरव उपाध्याय के बताया महाराज द्वारा बताए गए वर्णन में धाम क्या होता है जहाँ भगवान हमेशा वास करते है जैसे मनुष्य किसी भी कार्य से कही भी चला जाए लेकिन लौटकर अपने घर वापस ही आता है उसे धाम कहते हैं।हजारो की संख्या में दर्शक कथा सुनने के लिए पहुचे।



आज कथा में राजेश्वर बंसल,गोपालकृष्ण अग्रवाल,सतीश गोयल,उमेश बंसल,पी पी मिश्रा,कुलदीप शर्मा,सौरभ बंसल ,मुकुल गोयल,सत्यप्रकाश अग्रवाल,मनजीत सिंह,ओमप्रकाश अग्रवाल,गिरीश जिंदल,तरंग तायल, रवि शर्मा,कपिल गुप्ता,ललित शर्मा,जी पी गोस्वामी,गौरव उपाध्याय,जितेंद्र त्रिपाठी,संजीव सालवान,देवीशरण शर्मा,सुरेश पचौरी,वैभव बंसल ,धनप्रकाश शर्मा,अमरजीत सिंह,अरविंद तिवारी,सरोज तोमर,हरेंद्र भाटी,आदि लोग उपस्थित रहे।