आर्य समाज इंदिरापुरम द्वारा बलात्कारियों का शिकार हुई भारत की दिवंगत बहु बेटियों की आत्माओं की शांति के लिये हुआ बहुकुण्डीय शान्तियज्ञ

गाजियाबाद: आर्य समाज इन्दिरा पुरम के सौजन्य से हैदराबाद के जघन्य कांड पर जन जागृति अभियान एवम् भारत की बेटीयों(जो नर पिशाचों की दरिन्दगी का शिकार हुई) उनकी आत्मा की शांति के लिये बहुकुण्डीय शांतियज्ञ महारानी अवंतिका बाई हाथी पार्क नीति खण्ड-1,इन्दिरा पुरम में आयोजित किया गया।



 इस कार्यक्रम में आर्य जगत के सुविख्यात वैदिक प्रवक्ता आदरणीय डॉ वीर पाल विद्यालंकार,डॉक्टर सपना बंसल अध्यक्ष वैश्य अग्रवाल परिवार इंदिरापुरम व समाजसेवी आदरणीय श्री विनोद त्यागी आदि दिवंगत आत्माओं को श्रद्धासुमन अर्पित कर धर्म व राष्ट्रीय जन जागरण क्रान्ति के इस अभियान को निरन्तर चलाने की प्रेरणा दी।


हरियाणा से पधारी सुप्रसिद्ध भजनोपदेशिका अंजली आर्या, प्रदीप गुप्ता व प्रवीण आर्य आदि ने गीतों के माध्यम से श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए जनजागृति का संदेश दिया,अंजली आर्य जी ने बताया नारी मनुष्य जाति की आधार है माता ही बच्चों का प्रथम गुरु है सबसे पहले माता ही बच्चों को संस्कार देती है अच्छे संस्कार होने से ही कोई राष्ट्र समाज तरक्की कर सकता है।


इस अवसर पर आर्य समाज इंदिरापुरम के प्रधान विजय आर्य गर्ग में कहा जब नोटबंदी और धारा 370 35a जैसे संवेदनशील विषयों पर सरकार कानून बनाकर ठोस कार्रवाई कर सकती है तो क्यों नहीं इस तरह के अपराधों को रोकने के लिए ऐसे ही ठोस कानून बनाए और जल्द से जल्द अपराधियों को दंड मिले ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए अपराधी अपराध करने से पहले हजार बार सोचे इतना कड़ा दंड मिलने का प्रावधान होना चाहिए।


कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही कन्या गुरूकुल सोरखा की प्रबन्धिका श्रीमती सीमा आर्या जी ने कहा कि हम अपनी संतानों को नहीं सम्भाल पा रहे हमारे पास उनकी देखभाल के लिये समय ही नहीं है इसलिये यह सब बिगाड़ आ रहा है।


इस अवसर पर श्रीमती मीरा आर्या प्रधाना आर्य समाज इंदिरापुरम महिला प्रकोष्ठ ने कहा कि संस्कारों व नैतिक शिक्षा की कमी के कारण यह अपराध हो रहे हैं,विद्यालयों की शिक्षा में संस्कार देने की आवश्यकता है,उन्होंने कहा कि अश्लीलता भी इसके लिये काफी हद तक जिम्मेदार है,उन्होंने फिल्मों पर भी कठोर सेंसर शिप लागू कर अश्लीलता को रोकने के लिये कहा ओर सरकार से मांग की कि  ऐसे सख्त कानून बनाए जाएं जिससे इस प्रकार के अपराध बिल्कुल भी ना हो और अपराधी अपराध करने से पहले कई बार सोचे लचर कानून की वजह से अपराधियों के हौसले बुलंद हो जाते हैं और वह इस प्रकार के जघन्य अपराध करते हैं। 


इस अवसर पर मुख्य रूप से सर्वश्री नरेन्द्र पांचाल मंत्री आर्य केंद्रीय सभा गाजियाबाद,विजय आर्य गर्ग,प्रधान आर्य समाज इंदिरापुरम दिग्विजय सिंह आर्य, मंत्री,प्रदीप गुप्ता अध्यक्ष वैश्य अग्रवाल परिवार विपिन त्यागी योगाचार्य व आर्य समाज के समस्त अधिकारीगण उपस्थित रहे।