उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत  अनुसूचित जाति एवं  जनजाति  के व्यक्तियों को  प्रताड़ित होने पर  18 व्यक्तियों को  उपलब्ध कराया गया लाभ

 गौतमबुद्धनगर   वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, गौतमबुद्धनगर से प्राप्त प्रस्ताव के क्रम मे जिलाधिकारी, गौतमबुद्धनगर के अनुमोदन उपरांत 18 पीड़ित व्यक्तियो* को अत्याचारों से पीड़ित अनुसूचित जाति के व्यक्तियों आर्थिक सहायता  अन्तर्गत प्रत्येक पीडित को  आर्थिक सहायता उनके बैंक खातो में  स्थानांतरित कर लाभान्वित कराया गया है। यहां उल्लेखनीय हैं कि अत्याचारों से पीडित अनुसूचित जाति के व्यक्तियो को मारपीट, जातिसूचक शब्द कहकर अपमानित एवं उत्पीड़न करने पर उत्पीड़ित व्यक्तियो को रु. 1,00,000 (रु.एक लाख) की सहायता दिये जाने का प्राविधान है जिसमें अनुसूचित अत्याचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज होने पर रु.25,000,(25℅) न्यायालय मे आरोप पत्र दाखिल होने पर रु.50,000 (50℅) एवं न्यायालय द्वारा दण्डादेश पारित होने पारित होने पर रु.25000 (25℅) की सहायता दिये जाने का प्रविधान है। यह जानकारी जिला समाज कल्याण अधिकारी शैलेन्द्र बहादुर सिंह द्वारा दी गयी।