जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख में औद्योगिक विकास को प्रोत्साहन दिया जाएगा : पीयूष गोयल

नई दिल्ली  केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग तथा रेलमंत्री पीयूष गोयल ने आज नई दिल्ली में जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख के आर्थिक विकास की रणनीति के बारे में विचार-विमर्श के लिए आयोजित 'कश्मीरोनोमिक्स' सम्मेलन में कहा कि इन दोनों केन्द्रशासित प्रदेशों में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकार कई योजनाओं पर काम कर रही है। इससे वहां औद्योगिक विकास को पर्याप्त प्रोत्साहन मिलेगा। महिला एवं बाल विकास तथा वस्त्र मंत्री श्रीमती स्मृति जुबिन इरानी ने भी सम्मेलन को संबोधित किया। इस अवसर पर उद्योगजगत एवं नागरिक समाज के प्रतिनिधि, अर्थशास्त्री एवं सरकारी अधिकारी उपस्थित थे।वाणिज्य एवं उद्योग तथा रेलमंत्री ने कहा कि उनका मंत्रालय और भी अधिक अंतर्देशीय कंटेनर डिपो, व्यापार विकास केन्द्रों, आधुनिक महत्वपूर्ण संस्थानों की स्थापना करने तथा और भी अधिक उत्पादों को जीआई टैग प्रदान करने की योजना बना रहा है।पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे परियोजनाओं के कार्यान्वित होने से दोनों केन्द्रशासित प्रदेश अगले 10 वर्षों में सर्वाधिक विकसित क्षेत्र में शामिल हो जाएंगे। श्री गोयल ने कहा कि पर्यटन, खाद्य प्रसंस्करण, पनबिजली और सौर बिजली अत्यधिक संभावना वाले क्षेत्र हैं, किन्तु अब तक इनका लाभ नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों के बल पर जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख में सतत एवं संतुलित विकास सुनिश्चित हो सकता है।वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया जम्मू-कश्मीर के सौन्दर्य के बारे में जानती है तथा इस क्षेत्र के स्थानीय लोगों के लिए पर्यटन धन के उपार्जन का सबसे बड़ा स्रोत बन सकता है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र और यहां के लोगों की समृद्धि के लिए, सभी सरकारी विभागों, सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र तथा गैर-सरकारी संगठनों को मिलकर काम करना होगा।